April 5, 2020

डॉक्टर से लेकर छात्र तक परेशान, मकान मालिक कर रहे है किराएदारों को परेशान

कोरोना वायरस का कहर जबसे पूरी दुनियां में कहर ढाया है तब से सभी को इसका डर सताने लगा है,इतनाही नही पीएम नरेंद्र मोदी ने जब से 21 दिनों के लिए पूरा देश में कर्फ्यू लगाया है , तब से किराय पर रह रहे छात्र या फिर काम करने वाले मजदूर या फिर सरकारी नौकरी या फिर डॉक्टरों का रहना मुश्किल हो गया है, मकान मालिक ने साफ कह रहा है कि आप रुम खाली कर दे और अपने घर चलें जाए, इतना ही नही, मकान मालिक धमकी भी दे रहे है उनका कहना है कि अगर किसी से शियाकत की तो एंडवांस पैसा सहित सब समान रख लगें, ऐसे में मकान के किराय पर रह रहे लोग काफी डरे औऱ सहमे हुए है ।

आगे पढ़ें- बुलंद इरादे हो तो जीतना ही है, 3 बार फेल, टॉपरों में शामिल

राजधानी के आकस्मिक कामों में लगे लोगों के लिए भी कोरोना का कहर जुल्म ढा रहा है। अस्पताल और नर्सिंग में काम करने वाले स्टाफ को बड़ी परेशानी झेलनी पड़ रही है। घरों में जाने पर उन्हें मकान मालिक के गुस्से का शिकार होना पड़ रहा है। शहर के अलग-अलग हिस्से में रह रहे लोगों को लगातार अपने घर जाने को कहा जा रहा है। किसी भी तरह के हॉस्पिटल में काम करने वालों से लोग नफरत कर रहे हैं। हॉस्पिटल ड्रेस में बाहर निकलने पर ही लोग काम पर नहीं जाने की नसीहत दे रहे हैं। साथ ही हॉस्टल तक खाली करने को कह रहे हैं, हॉस्टलों में चलने वाले मेस को बंद कर दिया गया है। साथ ही पानी भी बंद करने की धमकी दी जा रही है। अस्पताल में काम करने के अलावा मेडिकल की पढ़ाई करने वाले विद्यार्थी भी इसका दंश झेल रहे हैं।

आगे पढ़ें- शराबियों और ग्रामीणों में मार-पीट, 1 की मौत 5 से ज्यादा लोग घायल

हालात ये हो गया है कि लोग अपने घर जाने के लिए पैदल ही चल रहे है यानी आज 100 साल पहले जिस तरह से लोग अपने घर से पैदल 1000 हजारों किलोमीटर चलते थे ठिक वैसे आज लोग पैदल चलने को तैयार है, क्यों कि जब से लॉकडाउन हुआ है तब से लोगों का किराय पर रहना मुश्किल हो गया है, जिसके कारण लोग अपने घर पैदल चलने को तैयार है, जिसमें राजधानी में पढ़ाई करने वाले छात्र भी शामिल है, छात्रों का कहना है कि मकान मालिक लगातार कह रहे है कि आप सब अपने घर चले जाइए औऱ ऐसे में छात्र अपने घर जाने के लिए तैयार है लेकिन दूर होने के कारण राजधानी में ही अपना असियाना ढ़ुढ़ रहे है, लेकिन बिहार सरकार अभी तक ऐसे मामलों कोई कड़ी कदम उठाते नजर नही आई है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *