April 5, 2020

सफाई कर्मचारियों के लिए चलाया जा रहा है स्पेशल बस, सफाई के बाद वो सेफ होकर जा सकेंगे घर

कोरोना वायरस को लेकर पूरी दुनिया में जहा चर्चा का विषय बना हुआ है तो वही सिर्फ आम आदमी को ही नही बल्की सबको लॉकडाउन के दौरान एक-जहग से आने जानें में प्रबलम हो रहा है, सरकारी के आलाव पूरे प्राइवेट काम पर रोक लगा दि गई है, और भिड़-भाड़ वाले जगह पर तो जाने से बिल्कुल मना कर दिया गया है वही हम आपको बता दे कि कोरोना वायरस के बढ़ते संख्या को देखते हुए लोग काफी परेशान संख्या में लगातार बढ़तरी हो रही है जो चिंता करने की बात है, इतना ही नही बल्की संख्या में लगातार बढ़ोतरी से सरकार भी चिंता में डूबी है जिसके वजह से पुलिस प्रशासन बिल्कुल घर से बाहर जाने से मना कर रहे है ।इतना ही नही शहर से लेकर गांव को साफ-सुथरा बनाने वाले कर्मचारी भी अब घर बैठे हुए है,

आगे पढ़ें- मजदूरों का फरिश्ता बना थानेदार अमरदीप,सेनिटाइजर कर खुद खिलाया खाना ।

दरअसल बताया जा रहा है कि लॉक डाउन के दौरान सफाईकर्मियों को भी काम पर आने-जाने में समस्या हो रही है। इस वजह से शहर की सफाई प्रभावित हो रही है। डोर टू डोर कूड़ा का उठाव शत प्रतिशत नहीं हो पा रहा है। इसे देखते हुए नगर आयुक्त के निर्देश पर गुरुवार से सफाईकर्मियों को उनके घरों से लाने के लिए सिटी बस चलाई गई। करीब 10 सिटी बसों से सफाई कर्मचारियों को विभिन्न रूट से शहर में लाया गया। बताया जा रहा है कि काम समाप्त कराने के बाद उन्हें फिर उनके रहने के आवास तक छोड़ दिया गया। सफाई कर्मचारियों को सिटी बस से लाने के दौरान भी नगर निगम ने सोशल डिस्टेंस का ख्याल रखा। एक सीट पर सिर्फ एक सफाईकर्मी को बैठाया गया। ताकि कम से कम उनके बीच 1 मीटर की दूरी बनी रहे। सभी सफाई कर्मियों को मास्क लगाने के निर्देश दिए गए हैं। ताकि वे पूरी तरह सुरक्षित रहे।

आगे पढ़ें- जाप की दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक समाप्त, गाँधी मैदान में 30 मई को होगी रैली

साथ ही बताया जा रहा है कि रांची में सिर्फ 2 हजार सफाई कर्मचारी है, जो अपने काम पर नही आ रहे है उनका कहना है कि रास्ते में जाते समय पुलिस उन्हें रोकती है क्यों कि जब से कोरोना वायरस को लेकर पूरी देश में लॉकडाउन लगाया गया है तब से कर्मचारियों का आना जाना बंद करना पड़ा है, लेकिन लोगों के घर में कुड़ा का घेर होने के वजह से नगर निगम ने सफाई कर्मचारियों को कुड़ा उठाने आने के लिए उन्हें स्पेशल बस से लाया जा रहा है और फिर उन्हें उनके घर तक छोड़ दिया जा रहा है, बताया जा रहा है कि उनका भी सुरक्षा का खास ध्यान रखा जा रहा है, एक कर्मचारी को बस के एक सीट पर एक ही कर्मचारी को बैठाया जा रहा है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *