August 7, 2020

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को मन की बात कार्यक्रम में स्वतंत्रता दिवस को लेकर कही बड़ी बात…

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को मन की बात कार्यक्रम के जरिए देशवासियों को संबोधित किया। सबसे पहले उन्होंने कारगिल विजय दिवस का जिक्र करते हुए कहा कि 21 साल पहले भारतीय सेना ने भारत की जीत का झंडा फहराया था। उन्होंने युवाओं से वीर जवानों से जुड़ी कहानियां पढ़ने और साझा करने का अऩुरोध किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं वीर जवानों के साथ ही उन्हें जन्म देने वाली माताओं को भी नमन करता हूं। उन्होंने कारोना वायरस के खिलाफ देश के एकजुट होकर लड़ने की सराहना की। उन्होंने कहा कि यह वायरस अब भी पहले की तरह खतरनाक है। प्रधानमंत्री ने मास्क की जरूरत भी बताई। इसके अलावा उन्होंने कहा कि इस साल 15 अगस्त अलग परिस्थितियों में मनाया जाएगा।

ये भी पढ़ें- संकट में है पर्वत पुरुष दशरथ मांझी का परिवार, सोनू सूद ने किया मदद का ऐलान तो मांझी के परिवार ने कहा ये

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संकेत दिया है कि 74वें स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त 2020 को कोरोना संक्रमण के साए में ही मनाना पड़ेगा। पीएम मोदी ने कहा कि इस बार 15 अगस्त का त्योहार अलग परिस्थितियों में होगा, कोरोना महामारी के बीच में होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि उनकी देशवासियों से अपील है कि वे स्वतंत्रता दिवस पर महामारी से आजादी का संकल्प लें। आत्मनिर्भर भारत का संकल्प लें और कुछ नया सीखने और सिखाने का संकल्प लें। पीएम मोदी ने कहा कि हमारा देश आज जिस ऊंचाई पर है उसके पीछे कई विभूतियों का त्याग है। देश को इनसे सीखने की जरूरत है। प्रधानमंत्री ने कहा, “साथियो जब अगली बार हम मन की बात में मिलेंगे तब तक 15 अगस्त आने वाला है। इस बार 15 अगस्त भी अलग परिस्थितियों में होगा। कोरोना महामारी की आपदा के बीच होगा, मेरा युवाओं से और देशवासियों से अनुरोध है कि हम स्वतंत्रता दिवस पर इस महामारी से आजादी का संकल्प लें।”

ये भी पढ़ें- बिहार की जुलाई महीने में कोरोना Positivity rate 12.54% है जो देश में सबसे ज्यादा है- तेजस्वी यादव

आत्म निर्भर भारत का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कई लोग और संस्थाएं इस बार रक्षाबंधन को अलग तरीके से मनाने का अभियान चला रहें हैं। कई लोग इसे Vocal for local से भी जोड़ रहे हैं जो कि सही है। मोदी ने बिहार के कुछ युवाओं का जिक्र किया। जो पहले सामान्य नौकरी करते थे। फिर वे मोती की खेती करने लगे। वे इससे अब काफी कमाई कर रहे। मोदी ने कहा कि बिहार की मधुबनी पेंटिंग वाले मास्क मशहूर हो रहे हैं। मोदी ने उन बांस की बोतलों, टिफिन बॉक्स का जिक्र किया जिन्हें नॉर्थ ईस्ट के लोग बना रहे हैं। पीएम मोदी ने बोर्ड परीक्षा में अच्छे नंबर लानेवाली कृतिका नांदल से बात की। वह हरियाणा के पानीपत की रहनेवाली हैं। इसके बाद मोदी ने केरल के विनायक से बात की। उनसे पीएम मोदी ने पूछा कि हाउज इज द जोश। विनायक ने कहा हाई सर। पीएम मोदी ने यूपी के उस्मान सैफी से भी बात की। सैफी ने बताया कि वह अपने रिजल्ट से खुश हैं। मोदी बोले कि कोरोना काल में ग्रामीण क्षेत्रों ने देश को दिशा दिखाई। पंचायतों ने काफी अच्छे प्रयास किया। जम्मू की सरपंच बलबीर कौर ने 30 बेड का एक क्वारंटाइन सेंटर बनवाया। बलबीर ने खुद पूरी पंचायत में सैनिटाइजेशन का काम किया। जेतूना बेगम ने अपनी पंचायत में कोरोना से जंग के साथ रोजगार के अवसर पैदा किए। फ्री मास्क, फ्री राशन बांटा। फसलों के बीज दिए ताकि खेती में दिक्कत न आए। अनंतनाग में मोहम्मद इकबाल ने सैनिटाइजेशन के लिए खुद ही स्प्रेयर मशीन बना ली। यह मशीन बाहर से 6 लाख की थी जो उन्होंने सिर्फ 50 हजार में।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed