April 5, 2020

खुले में सैकड़ों मृत मुर्गियों को फेंक गए पोल्ट्री फार्म मालिक, गांव के लोगों ने कार्रवाई की मांग की

गोपालगंज-जहां पूरा देश कोरोना वायरस को लेकर सतर्क है तो वही लोग भी इस बिमारी से डरे और सहमें हुए है, इतनाही नही कोरोना वायरस को देखते हुए सरकार ने पूरे बिहार को जह लॉकडाउन कर दिया है तो वही गोपालगंज में एक बड़ी लापरवाही देखने को मिली है, वहा एक पोल्ट्री फार्म के मालिक ने सैकड़ो मुर्गियां को मिट्टी में दफनाने की जगह नदी किनारे खुले में फेक दिया है, बताया जा रहा है कि सैकड़ो मुर्गिया एक साथ मरी है, जिससे उस गांव के लोगों में डर है,

आगे पढ़ें- लोगों ने बुंदेलखंड मोहल्ले को किया आइसोलेट, जाने क्या है वजह ?

जानकारी के अनुसार हम आपको बता दू कि पोल्ट्री फार्म के मालिक की काफी दिनों से पोल्ट्र फार्म चलाता है लेकिन पहले कभी भी ऐसे एक साथ सैकड़ो मुर्गिया नही मरी थी लेकिन इस बार वायरस के टाईम ही किसी अन्य बिमारी से एक साथ सैकड़ो मुर्गियां मर गई, जिसके बाद मुर्गियों को दफनाने की जगह मुर्गियों को यू ही फेंक दिया, जिसे गांव के लोग मुर्गी मालिक से खफा भी है, उनका कहना है कि मुर्गियों को यू ही खुले में नही फेंकना चाहिए, गांव के लोगों ने बताया कि मांझागढ़ थानाक्षेत्र के भैसही गांव के बाहर चितरंजन सिंह का मुर्गी फार्म है, यहां अज्ञात बीमारी से करीब 2 से 3 सौ मुर्गियां अचानक मर गई, जिसमें सैकड़ों मुर्गियो को यूं ही गांव के बाहर नदी, नाले में फेंक दिया गया, मरी हुई मुर्गियों के लावारिस फेंके जाने से बीमारी की आशंका बनी हुई है,

आगे पढ़ें- छपरा में पिल्ले को लेकर दो पक्षों में हुई मार-पीट, एक की मौत, बाकी घायल

जानकारी के अनुसार जिला प्रशासन से इन मृत मुर्गियों का सैंपल लेकर उसकी जांच की मांग की है, इसके साथ ही ग्रामीणों ने दोषी मुर्गी फार्म संचालक के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है, बहरहाल मरी हुई मुर्गियों के लावारिस फेंके जाने से बीमारी की आशंका तो बढ़ ही गयी है इसके साथ ही ग्रामीण भी खुद को किसी अज्ञात बीमारी से असुरक्षित महसूस कर रहे है, जिससे ग्रामीणों में मुर्गी मालिक के खिलाफ आक्रोश साफ-साफ दिख रहा है ग्रामीणों का कहना है कि मालिक को अपनी मुर्गी को गांव से बाहर दूर गांडा खोद कर नीचे की तरफ गांड देना चाहिए, क्यों कि इस समय कोरोना वायरस को लेकर अपने ही सब डरे हुए है । ऐसे में चितरंजन को ऐसी गलती नही करनी चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *