April 8, 2020

लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर सख्त हुई पुलिस, 12 केस की दर्ज

कोरोना वायरस को लेकर जहा सरकार सजग है, और पूरे झारखंड में लॉकडाउन की स्थिति है इस हालत में लोग लॉकडाउन को सिरियस नही ले रहे है अभी राज्य के मुख्य मंत्री सोरेन को पूरे राज्य में लॉकडाउन किए हुए अभी दो दिन भी नही हुआ कि  राजधानी रांची में लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ पुलिस ने 12 केस दर्ज किया है, कोरोना के चलते लॉकडाउन के बावजूद सोमवार को बड़ी संख्या में लोग राजधानी में सड़कों पर घूमते देखें गए, जिसके बाद बाजारों में भी भारी भीड़ देखी गई, हालांकि, पुलिस ने बेवजह निकलने वालों को वापस घर भेजने की भी कोशिश भी कर रही है, साथ ही पुलिस ने दुकानों को समझा-बुझाकर बंद कराया ।

आगे पढ़ें- खुले में सैकड़ों मृत मुर्गियों को फेंक गए पोल्ट्री फार्म मालिक, गांव के लोगों ने कार्रवाई की मांग की

जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि राजधानी रांची में 3 केस डोरंडा थाने में दर्ज हुए है, जबकि 01 लालपुर थाने में और बाकी 8 जगन्नाथपुर थाने में दर्ज किये गये है डोरंडा में रसिक लाल मिष्‍ठान भंडार और रेस्टोरेंट पर सरकार के आदेश का उल्लंघन करने के मामले में प्राथमिकी दर्ज हुई है, तो वही यह प्राथमिकी अरगोड़ा अंचल के अंचल निरीक्षक कमलाकांत वर्मा के बयान पर डोरंडा थाने में दर्ज हुई, जबकि एफआईआर पीएसआई सन्नी कुमार के बयान पर 2 मामले दर्ज की गई है, इनमें एक पान दुकानदार पर, जबकि दूसरी अड्डेबाजी करने वालों के खिलाफ हुई है,
आगे पढ़ें- छपरा में पिल्ले को लेकर दो पक्षों में हुई मार-पीट, एक की मौत, बाकी घायल

मिली सूचना के आधार पर बताया जा रहा है कि पूरे राजधानी में धारा 144 लगा है फिर भी लोग अपनी मनमानी करने में लगे है, जबकि सरकार लोगों की सुरक्षा के लिए ही कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए पूरे झारखंड में 31 मार्च तक लॉकडाउन कर दिया गया है, औऱ बाकी दुकान मॉल सिनेमा घर जैसे संस्थानों को 14 अप्रैल तक बंद करने का आदेश दिया है, ऐसे में सवाल ये भी उठता है कि जब सरकार लोगों की सुरक्षा के लिए कदम उठा रही है तो फिर लोग इसे फ्लों क्यों नही कर रहे है,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *