April 4, 2020

झारखंड से बाहर रह रहे लोगों ने, सोरेन सरकार से लगाए मदद की गुहार

कोरोना वायरस को लेकर झारखंड सरकार ने 14 अप्रैल तक स्कूल और मॉल सिनेमा घर जैसे जगहो को बंद करा दिया है अब लोगो को घर से बाहर निकलने के लिए साफ मना कर दिया गया है, वही हम आपको बताते चले कि झारखंड से बाहर रह रहे लोगों यानी मजदूरी करने अपने राज्य से बाहर गए लोगों  को घर आने में काफी परेशानी हो रही है, सबसे ज्यादा उनलोगों को परेशानी हो रही है जो घर से दूर मजदूरी करने गए है और अब घर आने के लिए सरकार से मदद भी मांग रहे है क्यों कि ट्रेन से हवाई एय़र तक को बंद कर दिया है जिससे बाहर रह रहे लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है,

आगे पढ़ें- कोरानाः मुंगेर में सोशल डिस्टेंसिंग फार्मूला पर हो रही है सामानों की खरिदारी, एसपी लिपि सिंह ने की अपील

कोरोना को लेकर पूरे देश में लॉकडाउन है, लेकिन इस लॉकडाउन का सबसे ज्यादा असर उन गरीबों और मजदूरों पर पड़ रहा, जो गांव छोड़कर शहर कमाने गये हैं, उन्हें न तो खाने-पीने और रेंट देने के लिए पैसे हैं, न ही घर लौटने के लिए, जिससे परेशान मजदूरो ने मजदूर वीडियो जारी कर सरकार से मदद की गुहार लगा रहे हैं, जानकारी के मुताबिक, झारखंड के ऐसे करीब 50 हजार कामगार मुंबई, दिल्ली, बेंगलुरु, मंगलौर, हैदराबाद और हिमाचल प्रदेश में फंसे हुए हैं, और मदद की गुहार लगा रहे हैं, ये लोग गिरिडीह, कोडरमा, हजारीबाग, बोकारो और धनबाद जिले के रहने वाले हैं,

आगे पढ़ें- दिल्ली से बिहार आना चाहते है तो इन 98183***** नंबरों पर कॉल करें ।

हालांकी बाताया जा रहा है कि कुछ लोग चंदा लेकर और लोगो से मदद लेकर प्राइवेट गाड़ी से अपने गांव पहुंचे है औऱ कुछ लोग 100 किलोमीटर पैदल चल कर गांव तक पहुंचे है, लेकिन सरकार बाहर रह रहे मजदूरों को घर आने के लिए कोई बड़ा फैसला अभी तक नही लिया है, सोरेन सरकार ये जरुर बोली है कि आप सब एक महीने का नही बल्की दो महीने का बैकप लेकर चले, इससे साफ लगता है कि 14 अप्रैल के बाद भी कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए समय में बढ़ोतरी किया जा सकता है ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *