April 4, 2020

पटनाः  RMRIMS रिसर्च सेंटर में आज कोरोना संदिग्ध मरीज़ो के 85 सैंपल जांच के लिए आया, एक पाया गया पॉजिटिव

पटना डेस्कः- पटना के RMRIMS रिसर्च सेंटर में आज यानि गुरूवार को कोरोना के संदिग्ध मरीज़ो के 85 जांच सैंपल आया, जिसकी जांच की गई है। आपको बता दें कि इनमें से 45 मरीज़ो की जांच की गई है। जिसमें से राजधानी पटना का रहने वाले एक 20 वर्षीय युवक की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। वहीं इसके बाद उस युवक को NMCH के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गाया है। जहां उसका इलाज चल रहा है। फिलहाल अभी 40 सैंपलों की रिपोर्ट आनी बाकी है। आपको बता दें कि इस जानकारी की पुष्टि RMRIMS के निदेशक डॉ. प्रदीप दास ने की है।

ये भी पढ़ेः- कोरानाः मुंगेर में सोशल डिस्टेंसिंग फार्मूला पर हो रही है सामानों की खरिदारी, एसपी लिपि सिंह ने की अपील

कोरोना वायरस जिससे पूरी दुनिया त्रस्त है। पूरी दुनिया में हाहाकार मचा हुआ है। लोग इसके शिकार हो रहे हैं। इसके मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। बात अगर भारत की करें तो भारत में इसके मरीजों की संख्या लगभग 700 हो गई है।वहीं मरने वालों का आंकड़ा भी बढ़ रहा है। वहीं पूरी दुनिया मिलकर इस लाइलाज बीमारी के इलाज ढूंढने की कोशिश कर रही है, कोशिश कर रही है अपने लोगों को बचाने की, मानवता को बचाने की, और इसने आपका भी सहयोग बेहद जरूरी है और इसलिए कहा जा रहा है कि आप सोशल डिस्टेंसिंग अपनाइये और आप अपने घरों में ही रहिए और यह सबसे बेहतर उपाय होगा कोरोना को हराने का।

ये भी पढ़ेः- जल्द आ सकता है दसवीं का रिजल्ट, जानें कब….?

वहीं बात अगर बिहार की राजधानी पटना की करें तो, राजधानी पटना में स्थित आरएमआरआईएमएस रिसर्च सेंटर में आज यानी कि गुरुवार को कोरोना के संदिग्ध मरीजों के 85 सैंपल जांच के लिए लाए गए। जिसके बाद इन सैंपलों की जांच की गई है। उसके बाद इन सैंपलों में से 45 सैंपलों की रिपोर्ट आई है, जिनमें से एक 20 वर्षीय युवक की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव पाई गई। आपको बता दें कि उसके बाद युवक को राजधानी पटना में स्थित एनएमसीएच अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इसकी जानकारी आरएमआरआईएमएस रिसर्च सेंटर के निदेशक डॉ प्रदीप दास ने दी है। आपको बता दें कि बिहार में भी लगातार मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। जिसको लेकर सरकार काफी चिंतित है। वहीं आज यानी कि गुरुवार को मुख्यमंत्री राहत कोष से कोरोना महामारी से लड़ने के लिए 100 करोड़ रुपए राशि दी गई है। इसके अलावा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने घोषणा की है कि बिहार में लोगों के लिए राहत शिविर बनाए जाएंगे। वहीं बिहार के लोग जो बाहर दूसरे राज्यों में फंसे हुए हैं। उनकी मदद बिहार सरकार करेगी और इस दौरान उनके खाने-पीने और व्यवस्था की जाएगी। आपको बता दें कि पूरे देश में पूरी तरीके से लॉक डाउन कर दिया गया है। जिसके बाद लोग दूसरी जगहों पर फंस गए हैं। जिसको देखते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आपदा प्रबंधन विभाग को मुख्यमंत्री राहत कोष से ₹100 की राशि दी गई है। आपदा प्रबंधन विभाग अब तमाम लोगों की मदद करेगा और इसके लिए राहत शिविर का निर्माण करेगा। वहीं इन शिविरों में में खाने-पीने की व्यवस्था की जाएगी।

पटना सिटी से मुकेश कुमार की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *