April 4, 2020

कोई सवारी नहीं मिलने पर, गोरखपुर से पैदल बगहा पहुंचे 5 युवक, किसी में कोरोना का संक्रमण नहीं

कोरोना वायरस को लेकर पूरा देश लॉकडाउन की स्थिति में है ऐसे बिहार भी लॉकडाउन की स्थिति में है, और पूरे देश में ट्रेन औऱ बस ट्रक बंद कर दिया गया है ऐसे में लोगों को प्रदेश से घर आने में दिक्कत हो रहा है जिसके वजह से लोग अजीब-अजीब हरकत करते मिल रहे है,, अभी कुछ दिन पहले ही राजस्थान से लोग पैदल बिहार के लिए चल पड़े थे, तो वही आज गोरखपुर से कुछ युवक पैदल चलकर बिहार पहुंचे है,

आगे पढ़ें-  बुलंद इरादे हो तो जीतना ही है, 3 बार फेल, टॉपरों में शामिल

दरअसल बताया जा रहा है कि गोरखपुर में मजदूरी करने वाले चनपटिया के पांच युवक सवारी की व्यवस्था नहीं होने पर रेल पटरी पकड़कर पैदल ही बगहा पहुंच गए। पांचों की कोरोना संक्रमण की जांच अनुमंडलीय अस्पताल में हुई। किसी में कोरोना के लक्षण नहीं मिले। इन्हें 14 अप्रैल तक घर से बाहर नहीं निकलने की हिदायत देकर छोड़ दिया गया। युवकों ने बताया कि कोरोना के चलते मंगलवार को कंपनी बंद कर दी गई। मालिक ने उन्हें घर जाने के लिए कहा। सवारी नहीं चलने के कारण वे गोरखपुर से रेल की पटरी पकड़ कर घर के लिए चल पड़े। उन्होंने बताया कि 110 किलोमीटर की दूरी 16 घंटे में तय कर बुधवार को पूर्वाह्न 10 बजे बगहा पहुंचे। अब वे बगहा से चनपटिया तक की 60 किलोमीटर की दूरी भी पैदल ही तय करेंगे।

आगे पढ़ें-  3 गांवों के लोगों ने गांव के बाहर घेरा लगा लॉकडाउन का मिसाल पेश की है- जानें

युवकों ने बताया कि मंगलवार से पहले ही लॉकडाउन का स्थिति था लेकिन मील मालिक मील चला रहा था जिसके वजह से वो वही पर मजदूरी करने के लिए रुके हुए थे, लेकिन पीएम के संबोधन के बाद अचानक मील मालिक ने 14 अप्रैल तक के लिए मील को बंद कर दिया है और युवकों को घर जाने को कहा जिसके वजह से युवकों ने घर आने को ठांन लिया और पैदल ही 110 किलोंमीटर की दूरी मात्र 16 घंटा में तय कर बगहा पहुंच गए ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *