April 8, 2020

नीतीश ने धारा 144 पर तोड़ी अपनी चुप्पी, कहा कि लोगों को जागरुक करना जरूरी

जहा पूरी दुनिया में कोरोना वायरस को लेकर चर्चा का विषय बना हुआ है तो वही भारत सरकार ने भी कोरोना से बचाव के लिए दूसरे देशो से आ रहे लोगो का चेक भी किया जा रहा है इसके के लिए हर हवाई अड्डा पर डॉक्टरों की स्पेशल टीम लगाई है,,जो चेक कर रही है, तो भारत में भी हर राज्यों में कोरोना वायरस को लेकर अलर्ट कर दिया है,,,साथ ही हम बिहार की बात कर तो बिहार में कई जगह धारा 144 लगाई गई है…

आगे पढ़ें-2 घंटो से चिल्लाती रही गर्भवती महिला, और जाम में फंसी रही एंबुलेंस, फिर हुआ कुछ ऐसा

वही कोरोना वायरस को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कहा कि बिहार में धारा 144 लगाना गलत है क्यों कि धारा 144 कानून के लिए लगाई जाती है, जब कि बिहार के 6 जिलों में पुलिस प्रशासन ने धारा 144 लगाई थी, ताकि लोग एक जगह इकठ्ठा न हो, वही सीएम ने कहा कि धारा 144 लगाने की जगह लोगो को जागरुक, सर्तक औऱ सावधान करने की जरुरत है,

वही हम आपको बता दे कि कोरोना की वजह से सोमवार को विधानसभा के बजट सत्र को आधे समय में खत्म कर दिया गया, जब कि सदन सत्र की कार्यवाही 31 मार्च तक चलने वाला था, वही कार्यमंत्रणा की बैठक के बाद विधानसभा के अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने ये घोषणा की, वहीं, प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव के प्रस्ताव को पारित कर दिया गया, इस प्रस्ताव के तहत 17 मार्च से 31 मार्च तक के स्वीकृत सवालों, गैर-सरकारी संकल्प गैर-सरकारी विधेयक को अनुश्रवण समिति के पास भेज दिए जाएंगे, वही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सदन में बोलते हुए कहा कि कोरोना प्रभावित देशों के अनुभव से पता चलता है कि लॉक डाउन से इसके संक्रमण को रोका जा सकता है. सोशल डिस्टेंस यानी सामाजिक और आपसी दूरी इसमें जरूरी है,

आगे पढ़ें- पटनाः रिटायर्ड पोस्टमास्टर मर्डर का पुलिस ने किया खुलासा, मुख्या आरोपी गिरफ्तार

सीएम नीतीश ने कहा कि कोरोना वायरस से लड़ने के लिए बिहार और नेपाल के बॉर्डर पर 49 चेकिंग प्वॉइंट बनाया गया है, नोवल कोरोना से संक्रमित मरीजों के इलाज का खर्च मुख्यमंत्री राहत कोष से किया जाएगा, उन्होंने घोषणा की कि अगर किसी की मौत कोरोना वायरस से होती है तो उसे 4 लाख रुपये का मुआवजा भी दिया जाएगा, वही मुख्यमंत्री ने कहा, पटना के एक तीन सितारा होटल को आइसोलेशन वार्ड में बदला जा रहा है, ताकि जो संदिग्ध पीड़ित हैं उन्हें आइसोलेशन वार्ड में रखा जा सके,वही पाटलिपुत्र अशोक होटल भी काफी दिनों से बंद पड़ा था इसे भी आइसोलेशन वार्ड में बदलने की तैयारी शुरू है, हम आपको बता दे कि नीतीश सरकार ने कोरोना वायरस से बचने के लिए तमाम स्कूल, कॉलेज सिनेमा हॉल और पार्को को 31 मार्च तक के लिए बंद कर दिया गया है, साथ ही कार्यक्रमों पर भी रोक लगा दिया गया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *