एमपी के ग्वालियर में एक नर्स ने नींद के इंजेक्शन का ओवरडोज लेकर आत्महत्या कर ली। मौत का पता तब चला जब मकान मालिक ने उसके कमरे का दरवाजा खटखटाया। पुलिस नर्स के लॉक मोबाइल से उसकी मौत के कारणों का पता लगाने की कोशिश कर रही है।

मध्य प्रदेश में ग्वालियर शहर के झांसी रोड थाना क्षेत्र के पारस विहार में रहने वाली एक महिला नर्स ने कथित तौर पर जहरीला इंजेक्शन लेकर आत्महत्या कर ली। उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जिले की रहने वाली रचना यादव शहर के एक निजी नर्सिंग होम में तैनात थी। वह यहां पारस विहार स्थित एक मकान में किराए से कमरा लेकर रहती थी। रचना के घरवालों को शुक्रवार सुबह उससे कुछ बात करनी थी। वे लगातार रचना को फोन कर रहे थे लेकिन फोन रिसीव नहीं हो रहा था। तब उन्होंने मकान मालिक को फोन किया और रचना से बात कराने का आग्रह किया। मकान मालिक ने रचना के कमरे को काफी देर तक खटखटाया लेकिन अंदर से कोई आवाज नहीं आई। उन्होंने खिड़की से झांक कर देखा तो अंदर रचना अपने बिस्तर पर पड़ी हुई थी। माजरा समझ में आते ही मकान मालिक ने इसकी सूचना तुरंत झांसी रोड पुलिस को दी।

पुलिस की मौजूदगी में रचना का कमरा खुलवाया गया। रचना के शव के पास इंजेक्शन और एम्प्यूल मिला है। पुलिस ने आशंका जताई है कि रचना ने संभवतः नींद के इंजेक्शन का ओवरडोज ले लिया जिससे उसकी मौत हो गई। प्राथमिक तौर पर तलाशी में पुलिस को ऐसा कुछ भी हाथ नहीं लगा है जिससे आत्महत्या के कारणों का खुलासा हो सके। रचना का मोबाइल भी उसके शव के पास ही रखा हुआ मिला, लेकिन वह लॉक है। लॉक खुलने के बाद ही यह पता चल सकेगा कि आखिरी वक्त में रचना की किन लोगों से बात हुई। फिलहाल उसके घर वालों को मौत की सूचना दे दी गई है।

By admin

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *