केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) की शिलांग में पूर्वोत्‍तर राज्‍यों के सभी मुख्‍यमंत्रियों के साथ मुलाकात के दो दिन बाद हिंसा की यह खबरें आई हैं.

असम-मिजोरम बॉर्डर (Assam-Mizoram border) पर आज हिंसा भड़क उठी. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) की शिलांग में पूर्वोत्‍तर राज्‍यों के सभी मुख्‍यमंत्रियों के साथ मुलाकात के दो दिन बाद हिंसा की यह खबरें आई हैं. बॉर्डर एरिया पर फायरिंग की खबरें मिली हैं, इसके साथ ही सरकारी वाहनों पर हमला किए जाने की भी खबरें सामने आई हैं. दोनों राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियों ने इस मसले पर ट्वीट करते हुए केंद्रीय गृह मंत्री को टैग किया है. एक वीडियो, जिसमें लोगों को लाठियों से लैस देखा जा सकता है, ट्वीट करते हुए मिजोरम के सीएम जोरामथांगा ने मामले में गृह मंत्री शाह के दखल की मांग की है. उन्‍होंने लिखा-इसे तुरंत ही रोका जाना चाहिए.’

एक अन्‍य ट्वीट में उन्‍होंने लिखा, ‘Cachar के रास्‍ते मिजोरम लौटने के दौरान निर्दोष दंपति पर गुंडों ने हमला किया और तोड़फोड़ की. आखिरकार इस तरह की हिंसक घटनाओं को आप किस तरह न्‍यायोचित ठहराएंगे.’असम के सीएम हिमांता बिस्‍ब सरमा ने ट्वीट किया, ‘आदरणीय जोरामथांगाजी. कोलासिब (मिजोरम) के एसपी ने हमें अपनी पोस्‍ट से तब तक हटने के लिए कहा है जब तक उनके नागरिक बात नहीं सुनते और हिंसा नहीं रोकते. ऐसी परिस्थितियों में हम किस तरह सरकार चला सकते हैं. उम्‍मीद है, आप जल्‍द से जल्‍द दखल देंगे. ‘

मिजोरम के तीन जिले आईजोल, कोलासिब और मामित, असम के कोचर, हेलकांडी और करीममंग जिलों के साथ 164.6 किमी लंबी इंटर स्‍टेट बॉर्डर शेयर करते हैं. वर्षों से सीमा के ‘विवादित माने जाने वाले इस क्षेत्र में झड़पें होती आई हैं और दोनों पक्षों के निवासियों ने एक-दूसरे पर घुसपैठ का आरोप लगाया है. ऐसी आखिरी घटना जून माह में रिपोर्ट की गई थी जब दोनों राज्‍यों के सुरक्षा बलों ने एक-दूसरे पर घुसपैठ का आरोप लगाया था. मिजोरम के अलावा असम का मेघालय और अरुणाचल प्रदेश के साथ भी सीमा विवाद है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *