कुदरत का कहर कहें या मौसम की मार. बेमौसम और भारी बारिश

नई दिल्ली: कुदरत का कहर कहें या मौसम की मार. बेमौसम और भारी बारिश के कारण आधे भारत में हाहाकार मचा है. दक्षिण भारत के केरल (Kerala) में कई लोगों की मौत हो गई. उत्तर भारत में भी जनजीवन प्रभावित हुआ. पहाड़ी राज्यों से लेकर तटीय प्रदेशों में बाढ़ (Flood) के हालात हैं. वहीं लैंड स्लाइड (Landslide) की वजह से भी लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा. आइये तस्वीरों के जरिए देखते हैं देश का हाल.

‘जो भी आया डूब गया’

उत्तर भारत के कई राज्यों में भारी बारिश (Heavy Rainfall) का अलर्ट है तो दक्षिण भारत (South India) में बारिश कहर बनकर टूट रही है. केरल (Kerala) में कई लोगों की मौत की खबरों के बीच बाढ़ (Flood) जैसे हालात बने हुए हैं. खतरा साल 2018 जैसी विनाशकारी बाढ़ जैसा दिख रहा है.

भारी बारिश की वजह से केरल के कोट्टायम जिले स्थित मुंडकायम में बना ये घर बह गया. यहां स्थानीय नदी का जलस्तर इतना बढ़ गया कि पानी इसप घर को ही बहाकर ले गया.

हालात इस कदर हो गए कि क्या बस और क्या कार जो भी बाढ़ के इन हालातों के बीच आया मानों उसमे समा गया.

दक्षिण भारत के कई शहरों में हालात बिगड़े तो एनडीआरएफ (NDRF) के साथ सेना के जवानों को मोर्चा संभालना पड़ा.

भारी बारिश (Heavy rain) के चलते देश के कई हिस्सों में भू-स्खलन (Landslide) की घटनाएं देखने को मिलीं. केरल की ये तस्वीर देख कर भी हालात का अंदाजा लगाया जा सकता है.

वहीं उत्तराखंड (Uttarakhand) में भी आज और कल (मंगलवार को) भारी बारिश की चेतावनी मौसम विभाग (IMD) ने जारी की है. 11 जिलों में अलर्ट जारी किया गया है. चमोली में सुबह से बारिश हो रही है. मौसम विभाग (IMD) ने लोगों से सतर्कता बरतने और पहाड़ी इलाकों में अगले 48 घंटों तक आवाजाही नहीं करने की सलाह दी है.

बता दें कि केरल (Kerala) में भारी बारिश के बाद बाढ़ और लैंडस्लाइड (Landslide) में अब तक 27 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. राहत और बचाव कार्य जोरों पर चल रहा है. पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने केरल के हालात का जायजा लेने के लिए केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन से बात भी की है और हर संभव मदद का वादा किया है.

भारी बारिश (Heavy Rain) से पठानमथिट्टा के पहाड़ी इलाके बाढ़ से ज्यादा प्रभावित हैं. सेना और एयरफोर्स की टीम राहत-बचाव कार्य में जुटी है. तिरुवनंतपुरम, कोल्लम समेत 7 जिलों में येलो अलर्ट है. वहीं पठानमथिट्टा समेत 5 जिलों में रेड अलर्ट जारी किया गया है. देखिए दक्षिण भारत (South India) में एक बस तक पानी में डूब गई. जिसे कई लोगों ने रस्सा खींच कर बाहर निकाला.

कई शहरों में झमाझम बारिश से पारे में गिरावट आई. वहीं ऑफिस जाने वालों को जाम की वजह से परेशानी का सामना करना पड़ा.

केरल में बारिश प्रभावित जिलों में आज भी ऑरेंज अलर्ट जारी है. राहत बचाव कार्य भी चल रहा है. बीती रात भी वहां रुक-रुककर कई इलाकों में बारिश हुई.

आज केरल के पटनमथीटा के निचले इलाकों में बाढ़ की आशंका है. वहां NRDF की टीमें तैनात की गई हैं. जानकारी के मुताबिक, पंबा नदी पर बने Kakki बांध के गेट खोले जाएंगे. बांध से आने वाला पानी निचले इलाकों को प्रभावित कर सकता है जिससे स्थिति गंभीर हो सकती है.

केरल में कई दिनों से जारी भारी बारिश के बाद बने बाढ़ के हालत ने कई जगह कहर ढ़ाया है. फौज और एनडीआरएफ की मुहिम लगातार जारी है.

Leave a Comment