July 9, 2020

क्वारंटाइन हुए प्रेमी और प्रेमिका को प्रवासी मजदूरों ने कराई शादी, प्रशासन तक को भी नहीं लगी भनक, जाने

लॉकडाउन के बाद से बिहार सरकार प्रवासी मजदूरों को स्पेशल ट्रेन से उनके घर वापसी करा रही है लेकिन कुछ ऐसे मजदूर है जो लगातार शिकायत कर रहे है कि ट्रेन से जाने के लिए 5 से 6 हजार रुपये की मांग कि जा रही है इसी वजह से वो लोग 50 से 60 मजदूर इक्कठा होकर और पैसे इक्कठा कर ट्रक से अपने घर को आ रहे है, इसी बीच मधुबनी के बेनीपट्टी प्रखंड स्थित नवकरही गांव से एक शादी की खबर आ रही है बताया जा रहा है कि क्वारंटाइन में आए एक प्रेमी और प्रेमिका की क्वारंटाइन किए लोगों ने शादी मंदिर में करा दी, हैरान करने वाली बात यह है कि गांव के मुखिया को भी इस बात की भनक तक नही लगी,और घंटो देर तक लोग इक्कठा होकर शादी के मजा लेते रहे और लॉकडाउन की धज्जियां उड़ाते रहे ।

आगे पढ़ें-जमुई में डबल मर्डर, मां-बेटे को पीट-पीट कर मार डाला, जाने

बताया जा रहा है कि जिस लड़के की शादी हुई है वो नवकरही गांव का ही निवासी है, युवक दिल्ली से एक लड़की को भगा कर गांव ले आया था जिसके बाद इन दोनों को गांव के मिडिल स्कूल में क्वारंटाइन कराया गया था, लेकिन क्वारंटाइन सेंटर में 2 दिन बीतने के बाद ही बुधवार की देर शाम ग्रामीणों ने इस प्रेमी जोड़े को क्वारंटाइन सेंटर से बाहर निकाला और पास में ही स्थित मंदिर में ही

खबरों को विस्तार से देखने के लिए हमारे APP को डाउनलोड करें- https://play.google.com/store/apps/details?id=com.newsone11.app&hl=en

शादी करा दी, बताया जा रहा है कि शादी कराने के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों की परवाह न करते हुए काफी संख्या में ग्रामीण जमा हो गए, हैरत की बात ये है कि घंटों तक शादी का कार्यक्रम चलता रहा लेकिन पंचायत के जनप्रतिनिधि और प्रशासन को इसकी भनक तक नहीं लगी,

आगे पढ़ें-जमुई में डबल मर्डर, मां-बेटे को पीट-पीट कर मार डाला, जाने

बताया जा रहा है कि लड़का दिल्ली के किसी दुकान में काम करता था वही दोनों की दोस्ती हो गई फिर दोनों वापस में प्यार करने लगे और जब लॉकडाउन के दौरान दुकाने बंद पड़ गई तो फिर युवक ने अपने प्रमिका को लेकर गांव चला आया फिर दोनों को गांव के स्कूल में ही क्वारंटाइन किया गया था क्वारटाइन के दो ही दिन बाद दोनों की शादी कर दी गई, वही गांव के मुखिया ने दोनों पर कार्रवाई करने की मांग की है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed