August 7, 2020

पटना में डीएसपी सहित डॉक्टर एवं वार्ड पार्षद भी हुए कोरोना संक्रमित, 7 दिनों के लॉक डाउन में ये होंगी कड़ाई…..

बुधवार को पटना के एक पुलिस अधिकारी डीएसपी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। उसके बाद अब पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है। सूत्रों के अनुसार डीएसपी हाल ही में कई पुलिस अधिकारियों के संपर्क में आए थे। इसके बाद अभी इस मामले में सभी आला अधिकारियों ने चुप्पी साध ली है। बता दें कि राजधानी पटना में कोरोना संक्रमितों की संख्या में बढ़ोतरी देखी गयी है। लेकिन ऐसे में पुलिस अधिकारी का भी कोरोना की चपेट में आ जाना राजधानी में कोरोना की भयानक स्थिति को दर्शा रहा है। जबकि बीते दिनों मंगलवार को पटना सिटी इलाके में एक साथ 70 लोगों के कोरोना वायरस पॉजिटिव होने से भी पटना सिटी इलाके में हड़कंप मच चुका है। जबकि मंगलवार को भी कोरोना की जांच रिपोर्ट में मेयर के पुत्र सुशील कुमार और अन्य एक महिला वार्ड पार्षद के पति और पुत्र भी संक्रमित पाए गए हैं। इसके अलावा गुरु गोविंद सिंह अस्पताल के 3 डॉक्टर समेत 2 अन्य कर्मी भी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। जिसके बाद इन सभी लोगों को अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है। इसके अलावा अगम कुआं के स्थित टीवी डीसी के डॉक्टर नर्स समेत 12 लोग संक्रमित हो चुके हैं। जबकि संस्थान में 6 लोगों के संक्रमित पाए जाने के बाद प्रशासन की टीम ने शनिवार को संस्थान में अभियान चलाकर सैंपल इकट्ठा करवाया है।

ये भी पढ़े – बिहार में 94 हजार प्राथमिक शिक्षकों का भविष्य अधड़ में, बहाली प्रक्रिया स्थगित

जिसे लेकर पटना के डीएम कुमार रवि ने संक्रमण को थामने के लिए एक बार फिर से लॉक डाउन करने का फैसला लिया है। जिसके लिए 10 जुलाई से लेकर 16 जुलाई तक लॉकडाउन का ऐलान किया गया है। जो कि शुक्रवार के दिन से 7 दिनों तक के लिए प्रभावी हो जाएगा। इस दौरान पटना में फ्लाइट, ट्रेन एवं बस समेत अन्य सभी वाहनों के चलने की इजाजत दी गई है। जबकि इन 7 दिनों के लिए सरकारी और सभी प्राइवेट दफ्तरों को बंद रखने का फैसला लिया गया है। सिर्फ आवश्यक सेवाओं को ही लॉक डाउन में इजाजत दी गई है। जिसके दौरान पटना की सड़कों पर वर्तमान की ही तरह गाड़ियां चलेगी। ट्रेनों और फ्लाइटों का आवागमन जारी रहेगा। लेकिन इस दौरान बेमतलब बाहर निकलने और घूमने वालों पर पुलिस की पैनी नजर रहेगी।

ये भी पढ़े –बिहार में 94 हजार प्राथमिक शिक्षकों का भविष्य अधड़ में, बहाली प्रक्रिया स्थगित 

बता दें कि पटना के डीएम कुमार रवि ने बुधवार शाम में लॉक डाउन का आदेश पारित किया है। जिसके मुताबिक शुक्रवार से अब दुकाने सुबह 6:00 बजे से लेकर 10:00 बजे तक और शाम के 4:00 बजे से लेकर 7:00 बजे तक ही खुली रहेगी। परिवहन पर किसी तरह की पाबंदी नहीं लगाई है और ना ही लोगों के आने-जाने पर रोक लगाई गई है। लेकिन अनावश्यक तौर से घर से बाहर घूमने वाले और वाहनों पर

खबरों को विस्तार से देखने के लिए हमारे APP को डाउनलोड करें- https://play.google.com/store/apps/details?id=com.newsone11.app&hl=en

भी कड़ा प्रतिबंध लगाया गया है। इसके दौरान पटना में वाहन चलाने के दौरान या फिर किसी वाहन को बाहर निकलने के लिए विशेष पास की जरूरत नहीं होगी। लेकिन बिना काम के बाहर निकलने और घूमने वालों के खिलाफ पुलिस सख्त कार्रवाई करेगी। जबकि इन 7 दिनों के लॉकडाउन के दौरान केवल जरूरी सेवाएं एवं दुकानें खुली रहेंगी। जिनमें राशन, दूध, दवाई जैसी जरूरी चीजें शामिल है। साथ ही बैंक, पेट्रोल पंप, ई-कॉमर्स एवं होम-डिलीवरी को भी छूट दी गई है। जिसके दौरान जरूरी सामान की आपूर्ति में होम डिलीवरी को भी बढ़ावा देने पर जोर दिया गया है।

MUST WATCH-

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed