August 14, 2020

मुंगेर में एसपी लिपि सिंह ने कसी अपराधियों पर नकेल, छापामारी में सात अपराधी गिरफ्तार

मुंगेर पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह के निर्देश पर की गई कार्रवाई के दौरान सात अपराधियों को गिरफ्तार किया गया। अपराध की योजना बना रहे अपराधियों को रंगे हाथ हथियारों के साथ गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार अपराधियों में से कई अपराधियों का लंबा आपराधिक इतिहास रहा है तथा कई घटनाओं में इन्होंने अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। मुंगेर पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह ने बताया कि सफियासराय ओपी अंतर्गत सिंघिया बहियार इलाके में अपराधियों के जमावड़े की सूचना मिली थी। गांव के बाहर सिंघिया बहियार में बैठे अपराधी वारदात को अंजाम देने के लिए जमा हुए थे। सूचना के बाद पुलिस अधीक्षक द्वारा जिला पुलिस द्वारा सिंघिया बहियार इलाके में तीन तरफ से घेराबंदी कर छापामारी की गई।

ये भी पढ़ें- देश में कोरोना के मरीजों की संख्या पहुंची 11 लाख के पास, अब तक हुई 26816 मरीजों की मौत, जाने रविवार के ताजा अपडेट

इसी दौरान बांध पर बैठे अपराधी पुलिस को देखकर भागने लगे। आधे घंटे की मशक्कत के बाद मौके पर से पांच अपराधियों को गिरफ्तार किया गया जबकि कुछ अन्य भाग निकले। सिंघिया बहियार से सत्यम यादव, आजाद यादव, राणा यादव उर्फ राणा बॉस,  सूरज यादव और अमरेश यादव को गिरफ्तार किया गया। इनके पास से चार देशी पिस्तौल और 14 जिंदा गोलियां बरामद की गई। गिरफ्तार अपराधियों से पुलिस को जानकारी मिली कि कुछ अन्य अपराधी गांव की तरफ भागे हैं। भाग रहे अपराधियों में से एक शशांक कुमार यादव को पुलिस ने गिरफ्तार किया। गिरफ्तार अपराधियों की निशानदेही पर पूरबसराय ओपी और मुफस्सिल थाना क्षेत्र में भी छापामारी की गई।

ये भी पढ़ें- एक तरफ कोरोना का कहर तो दूसरी तरफ बाढ़ की चपेट में आएं आठ जिले, जाने क्या हैं ताजा हालात

गिरफ्तार अपराधियों ने बताया कि हथियार एवं गोलियों की आपूर्ति का काम मुफस्सिल थाना क्षेत्र निवासी बंटी यादव करता है। इसके बाद मुफस्सिल थाना क्षेत्र के कल्याण चक गांव में भी बंटी यादव के घर छापामारी की गई, जहां से एक देशी पिस्तौल और थ्री नॉट थ्री की एक जिंदा गोली बरामद की गई। पूरबसराय ओपी क्षेत्र के कृष्णापुरी मोहल्ले में उसके रिश्तेदार के यहां भी छापामारी के दौरान पुलिस को एक लोडेड देशी राइफल तथा तीन गोलियां मिली हैं। पुलिस ने यहां से सौरभ राज उर्फ छोटू को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार अपराधियों में सत्यम यादव, सूरज यादव और राणा यादव उर्फ राणा बॉस का अपराधिक इतिहास रहा है। सूरज यादव और राणा यादव की तलाश जमालपुर थाना क्षेत्र में हुए हत्या के दो मामले में भी चल रही थी। इसके अलावा जदयू नेता जुगनू मंडल की हत्या में भी अपराधियों ने अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। सभी सात अभियुक्तों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

मुंगेर से सोनू कुमार झा की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *