April 7, 2020

खुनी खेल के बाद ठाठा गांव पहुंचे डीआईजी, शांति व्यवस्था बहाल करने का दिया भरोसा

ठाठा गांव पहुंचे बेगूसराय रेंज के डीआईजी

खगडि़या जिला के मानसी थाना क्षेत्र स्थित पूर्वी ठाठा पंचायत के ठाठा गांव में 8 फरवरी को हुए ट्रिपल मर्डर के बाद एक बार फिर गांव दहशत में है। वर्चस्व की जंग और पंचायत चुनाव की रंजिश में दो पूर्व मुखिया बृजनंदन यादव एवं अमोद यादव सहित सत्तो यादव की हत्या के 38 दिनों बाद ठाठा पंचायत दहशत में है जिसके बाद बेगूसराय रेंज के डीआईडी (DIG) राजेश कुमार ने घटनास्थल का दौरा किय।

वहीं मानसी पहुंचे बेगूसराय रेंज के डीआईडी (DIG) राजेश कुमार ने पीड़ित पूर्व सरपंच से घटना की जानकारी ली तथा घटनास्थल का जायजा भी लिया। इस दौरान उन्होंने बताया कि पुलिस अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए हर तरह से कोशिश कर रही है और बहुत जल्द अपराधियों को गिरफ्तार करने में सफल हो जाएगी। उन्होंने बताया कि थानाध्यक्ष गुंजन कुमार को इस मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में निलंबित कर दिया गया है तथा संजय कुमार विश्वास को नए थानाध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया है।

ये भी पढ़ें : पत्नी के सामने ही पति को दरोगा ने मारा थप्पड़, एसएसपी ने दिया जांच का आदेश

पूर्वी ठाठा के मोस्ट वांटेड अपराधी विनोद यादव

साथ ही उन्होंने जिला पुलिस की बड़ाई करते हुए कहा कि पुलिस ने अच्छी तरह काम करते हुए 3 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया है और और बहुत जल्द बचे दो अभियुक्त को भी गिरफ्तार कर लिया जायेगें। जिसके लिए खगड़िया एसपी के नेतृत्व में एसटीएफ, बीएमपी सहित तीन डीएसपी दिये गये है साथ हीं ऐसे ऐसएचओ शामिल हैं जो इस ऑपरेशन को सफल कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि ऑपरेशन को सफल बनाने के लिए सशक्त आर्मस एवं संसाधन व पर्याप्त पुलिस बल दिये गये हैं एवं लगातार छापेमारी की जा रही है। साथ ही  डरे हुए ग्रामीणों को उन्होंने संदेश देते हुए कहा कि बहुत जल्द अपराधी को गिरफ्तार कर शांति व्यवस्था बहाल किया जायेगा।

ये भी देखें : Pappu Yadav और Kanhiaya Kumar पर Jagdanand Singh ने कही बड़ी बात, Manjhi और Kushwaha को भी सुनाया

आपको बता दें कि बेखौफ़ अपराधियों ने एक बार फिर ठाठा गांव में पुलिस कैंप रहने के बावजूद भी पूर्व सरपंच भरत यादव के पिता राजेन्द्र यादव उर्फ पगलू यादव और उनके भाई रिंकु यादव को गोली मारकर फरार हो गया। जिससे उन दोनों की घटनास्थल पर हीं मौत हो गई। पिता-पुत्र की हत्या से एक बार फिर पुर्वी ठाठा गाँव दहल उठा है। वहीं इस घटना के बाद मृतक के परिजन के साथ-साथ गांव के अन्य लोगों का भी जीना दुस्वार हो गया। जिसके बाद अब लोग पुलिस पर भी निष्क्रियता का आरोप लगा रहे हैं। वहीं गांव में 38 दिनों पहले हुए दिल दहला देने वाली घटना के बाद एक भार फिर खूनी खेल कई बड़े सवाल खड़े करते हैं।

खगड़िया से आशुतोष की रिपोर्ट

बिहार और झारखंड के साथ ही राष्ट्रीय खबरों से हमेशा अपडेट रहने के लिए News One 11 के FACEBOOKYOU TUBE और Web Page से जुड़े।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *