April 8, 2020

कोरोना वायरस : छुट्टी के बाद भी इस कंपनी के कर्मचारियों की नहीं कटेगी सैलरी, जाने कौन…

फाइल फोटो : एन. चंद्रशेखरन टाटा कम्पनी के चेयरमैन

भारत में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए केंद्र से लेकर के राज्य सरकारें लोगों के बीच जागरूकता फैलाने में जुटी हुई है। इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के इस महामारी को लेकर देश की जनता को संवोधित करते हुए जनता कर्फ्यू का ऐलान किया है तो। इसके साथ ही उन्होंने जनता को संबोधित करते हुए लोगों को अपने सुरक्षा का ख्याल रखते हुए लोगों से दूरी बनाने को कहा, तो वहीं देश में संचालित कई उद्योग-कंपनियों से अपील की थी कि, इस विषम परिस्थिति में वह अपने कंपनियों में काम करने वाले कर्मचारियों के वेतन में किसी भी तरीके की कटौती ना करें। क्योंकि इस बीच कर्मचारियों काफी परेशानियों का सामना नहीं करना पड़े।

वहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा कारोबारी समुदाय को वेतन में कटौती नहीं करने की अपील के एक दिन बाद आया है। पहली बार टाटा कंपनी ने अपने कर्मचारियों के लिए बयान जारी किया है। टाटा कंपनी ने अपने कर्मचारियों के वेतन को लेकर के कहां है कि इस महामारी रूपी बीमारी में उनके कर्मचारियों की वेतन में किसी तरीके की कटौती नहीं की जाएगी। आपको बता दूं कि कोरोना वायरस का प्रकोप जिस तरीके से देश में फैला हुआ है जिसकी संख्या धीरे-धीरे बढ़ती जा रही है और अब तक भारत में कुल 271 संक्रमित मरीज सामने आ चुके हैं इसको लेकर सरकार टाटा ने ये फैसला लिया है।

कांग्रेस ने की भारत को लॉकडाउन करने की मांग, पीएम मोदी से जताया भरोसा, क्या जल्द होगा…

निजी क्षेत्र के सबसे बड़े समूह टाटा संस के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन ने अपने जारी बयान में कहा कि  कोरोनो वायरस महामारी एक बड़ा वैश्विक संकट है, जो हमारे समाज के कमजोर वर्ग पर बड़ा और गहरा वित्तीय प्रभाव डालेगा। ऐसे में समूह ने कर्मचारी हितों को ध्यान में रखते हुए अस्थायी श्रमिकों को पूर्ण वेतन देने का फैसला किया है। साथ ही उन्होंने कहा कि टाटा कंपनियां सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों के साथ मिलकर काम कर रही है ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि श्रमिकों को उनका बकाया वेतन समय पर मिल सके। संकट के इस समय में टाटा समूह अपने अस्थायी श्रमिकों और दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों को पूरा भुगतान सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं, जो मार्च और अप्रैल 2020 के महीने में हमारे कार्यालयों और भारत में हमारी साइटों पर काम कर रहे हैं।

ये भी देखें : कोरोना वायरस से पीडित कनीका कपूर कहा पीट गई ।

आपको बता दें कि टाटा समूह ने कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए कंपनियों में आने के नहीं बल्की वर्क फ्रॉम होम का वातावरण तैयार कर दिया है साथ ही विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा जारी गाइडलाइन को अपनाने के लिए कहा है ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि कर्मचारी सिर्फ बहुत आवश्यक मामलों में यात्रा करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *