April 4, 2020

458 दिन बाद मध्यप्रदेश के सीएम कमलनाथ का इस्तीफा, आज शाम शिवराज पर होगा फैसला

मध्यप्रदेश में जारी सियासी घटनाक्रम के बीच मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। इस्तीफा देने से पहले उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस की। जिसमें उन्होंने अपनी एक साल, तीन महीने और दो दिन की सरकार की उपलब्धियां गिनाईं। उन्होंने कहा कि भाजपा शुरुआत से ही सरकार गिराने की कोशिश में लगी हुई थी। वहीं कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल होने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया पर भी निशाना साधा। कमलनाथ ने कहा कि एक महाराज के साथ मिलकर भाजपा ने राज्य सरकार को गिराने की साजिश रची।

सिंगर कनिका कपूर की कोरोना वायरस की रिपोर्ट आई पॉज़िटिव, हुई थी एक ग्रैंड पार्टी में शामिल

आपको बता दें कि आज शाम को भाजपा विधायक दल की बैठक होनी है। जिसमें शिवराज सिंह चौहान को विधायक दल का नेता चुना जा सकता है। आपको बता दें कि अपने इस्तीफे का एलान करने के बाद कमलनाथ ने राज्यापल लालजी टंडन को राजभवन जाकर अपना इस्तीफा सौंप दिया है। कमलनाथ के इस्तीफे के बाद पूर्व सीएम शिवराज चौहान ने ट्वीट कर लिखा कि, ‘सत्यमेव जयते!’ वहीं कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कमलनाथ के इस्तीफे के बाद लिखा, ‘मध्यप्रदेश में आज जनता की जीत हुई है। मेरा सदैव ये मानना रहा है कि राजनीति जनसेवा का माध्यम होना चाहिए, लेकिन प्रदेश सरकार इस रास्ते से भटक गई थी। सच्चाई की फिर विजय हुई है। सत्यमेव जयते।’ बताया जा रहा है कि आज शाम को भाजपा विधायक दल की बैठक होगी।

16 दिसंबर 2012: निर्भया केस, हैवानियत की हद की पढ़ें पूरी कहानी

जिसमें विधायक दल का नेता चुना जाएगा। माना जा रहा है कि शिवराज सिंह चौहान को नेता चुना जा सकता है। वहीं एक प्रेस कांफ्रेंस कर कमलनाथ ने भाजपा पर सरकार गिराने का आरोप लगाया। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘मैंने हमेशा विकास में विश्वास किया है। हमारे विधायकों को कर्नाटक में बंधक बनाया गया। मुझे जनता ने पांच साल के लिए बहुमत दिया था। प्रदेश पूछ रहा है कि मेरा कसूर क्या है। 15 महीनों से भाजपा साजिश रच रही है। भाजपा सरकार को गिराने की कोशिश में लगी रही। चुनाव में कांग्रेस को सबसे ज्यादा वोट मिले थे। विधायकों को खरीदने के लिए करोड़ों रुपये खर्च किए गए। भाजपा ने किसानों के साथ धोखा किया। एक महाराज के साथ मिलकर भाजपा ने सरकार गिराने की साजिश रची।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *