April 8, 2020

NRC के मुद्दे पर बीजेपी ने नीतीश पर लगाया आरोप, क्या जदयू का साथ छोड़ेगी बीजेपी !

बिहार विधानमंडल के बजट सत्र के दूसरे दिन NRC और NPR के लागू नहीं करने वाले प्रस्ताव को पारित होने के बाद, जहां एक तरफ विपक्ष खुशी में झूम रहा है। तो वहीं बिहार बीजेपी के नेता इसके लिए सीएम नीतीश कुमार को भी दोषी मान रहे हैं।

जिसको लेकर बीजेपी नेताओं का कहाना है कि, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जिस तरह से बीजेपी का बिना परवाह किये हुए। NRC के मुद्दे पर विपक्ष का साथ दिया और NRC लागू नहीं करने के प्रस्ताव पारित में भरपूर साथ देते हुए प्रस्ताव को पारित करा दिया।

ये भी पढ़ें : विधानसभा में गूंजा नियोजित शिक्षकों का मामला, राजद-माले ने सरकार को चताया !

वहीं सदन में NRC और NPR के प्रस्तवा पारित होने के बाद बीजेपी और जदयू के नेताओ के बीच दूरिया देखने को मिल रही हैं। जिसको लेकर बीजेपी विधायक मिथिलेश तिवारी ने जदयू पर निशाना साधते हुए कहा कि, ‘ कानून लागू करना और नहीं करना केंद्र सरकार का काम है, राज्य सरकार का काम है अपने विचारो के साथ केंद्र सरकार तक सुझाव भेजना हैं’ अब अगर नीतीश सरकार सुझाव नहीं भेजती है तो फर्क नहीं पड़ता है।

इसके साथ ही बीजेपी विधायक मिथिलेश तिवारी ने इसारे-इसारे में सीएम नीतीश को चेताते हुए कहा कि। लोग ये भूल रहे है कि बीजेपी विश्व की सबसे बड़ी पार्टी है और वह अपना फैसला खुद लेती है। अगर बीजेपी के विचारों में किसी की सहमती नहीं होती है तो बीजेपी को उसका साथ छोड़ने में तनीक भी परहेज नहीं होगी।

बीजेपी-जदयू के बीच फिर शुरू हई तस्खी ?

साथ ही बीजेपी नेता और बिहार सरकार के मंत्री प्रेम कुमार ने भी NRC और NPR के मुद्दे पर सीएम नीतीश पर आरोप लगाते हुए कहा कि, NRC के मुद्दे पर सीएम नीतीश ने पहले से ही मन बना लिया था इसलिए बिना कोई सुचना दिए ही सदन में इस प्रकार पर चर्चा किए और प्रस्ताव को खारिज कराने में सफल रहे।

वहीं बीजेपी-जदयू के इस हालत को देख राजनीतिक गलियारों में कई सवाल उठने लगा है। कोई बीजेपी के इस नराजगी को जदयू से विधानसभा चुनाव में अगल देख रहा है, तो कई लोगों ने इसे नीतीश की अगली चाल के तौर पर देखा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *