July 7, 2020

बिहार सरकार ने दो ठेकेदारों का टेंडर किया रद्द, चीनी पार्टनर होने….!

राजधानी पटना से बिहार के उत्तरी छोर को जोड़ने वाले महात्मा गांधी सेतु के समानांतर नए पुल के निर्माण के लिए दो ठेकेदारों का टेंडर राज्य सरकार ने रद्द कर दिया है, प्रदेश की सरकार ने यह कदम इसलिए उठाए हैं, क्योंकि दोनों के साझेदार चीनी थे, सरकार ने इसके लिए फिर से आवेदन मांगे हैं, राज्य के पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव ने कहा कि चार में से दो ठेकेदार, जिन्हें महात्मा गांधी सेतु के समानांतर एक नए पुल के निर्माण के लिए चुना गया था, उनके चीनी साझेदार थे, हमने उन्हें अपने साथी बदलने के लिए कहा, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया, इसलिए हमने उनका टेंडर रद्द कर दिया।

ये भी पढ़ें-भारत-चीन विवादः बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने सोनिया गांधी पर बोला बड़ा हमला, कहा…

बताया जा रहा है कि 30 जून तक गांधी सेतु के नवनिर्मित पश्चिमी लेन को चालू करने का लक्ष्य रखा गया था, जिसे पूरा करना संभव नहीं दिख रहा है, इसमें कम से कम एक महीना और लगेगा, स्टील से निर्मित सुपरस्ट्रक्चर के 45 में से अब तक केवल 20 स्पैन की ही पिचिंग हुई है, 25 की पिचिंग बाकी है, ऐसे में जुलाई अंत से पहले इसे पूरा करना संभव नहीं दिख रहा, मॉनसून की एक दिन बारिश होने पर तीन दिन काम रुक जा रहा है, लेने चालू होने की घोषणा लगभग दो महीने पहले पथ निर्माण मंत्री

खबरों को विस्तार से देखने के लिए हमारे APP को डाउनलोड करें- https://play.google.com/store/apps/details?id=com.newsone11.app&hl=en

नंद किशोर यादव ने की थी, गांधी सेतु के पश्चिमी लेन के सुपरस्ट्रक्चर को स्टील के 45 ट्रश पर खड़ा किया गया है और हर दो पिलर के बीच में एक ट्रश है, इनके पेंटिंग का काम भी अभी पूरा नहीं हुआ है और 23 ट्रश की पेंटिंग बाकी है, पेंटिंग का काम भी बारिश में नहीं हो सकता है और इसे पूरा करने के लिए कम से कम 12-15 दिन मौसम का ठीक रहना जरूरी है ।

ये भी पढ़ें-भारत-चीन विवादः बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने सोनिया गांधी पर बोला बड़ा हमला, कहा…

जाहिर से बात है कि जब से भारत और चीन के बीच रिश्ते बिगड़े है तब से चीन को मुहतोड़ जवाब देने के लिए लगातार भारत द्वारा कदम उठाए जा रहे है इसी कड़ी में केंद्र परिवहन औऱ राज्य मंत्री ने पटना के गांधी सेतू में बन रहे पुल निर्माण में शामिल ठेकेदारों का टेंडर रद्द कर दिया है, वही सरकार ने ठेकेदारों से 29 जुलाई तक प्रस्ताव मांगे है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *