April 7, 2020

दिल्ली पुलिस की बड़ी कार्रवाई शाहीन बाग में प्रदर्शन स्थल को कराया खाली

दिल्ली के शाहीन बाग में पिछले 101 दिन से चल रहे नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) के खिलाफ धरना प्रदर्शन को हटा दिया गया है। मंगलवार को शाहीन बाग में भारी पुलिस फोर्स की तैनाती के बीच प्रदर्शनकारियों के टेंट उखाड़े गए। इसके साथ ही नोएडा-कालिंदी कुंज सड़क को भी खाली करा लिया गया है। दिल्ली पुलिस ने कोरोना वायरस और धारा-144 की दलील देते हुए एक घंटे में यह कार्रवाई की।

ये भी पढ़ेंः- लोगों ने बुंदेलखंड मोहल्ले को किया आइसोलेट, जाने क्या है वजह ?

इस दौरान पुलिस ने 6 महिलाओं और 3 पुरुषों को हिरासत में ले लिया। अभी भी मौके पर भारी पुलिस फोर्स की तैनाती की गई है। पुलिस का कहना है कि हम शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शनस्थल को खाली कराना चाहते थे। आपको बता दें कि दिल्ली के शाहीन बाग में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ पिछले 100 दिनों से चल रहे प्रदर्शन पर पुलिस ने कार्रवाई की है। पुलिस ने मंगलवार सुबह प्रदर्शन स्थल को पूरी तरह से खाली करवा लिया है। इसके अलावा वहां प्रदर्शन के दौरान लगाए गए टेंट को भी हटा दिया गया है। हालांकि, लोगों ने कहा कि हमने रात को ही कर्फ्यू की आशंका से प्रदर्शन स्थल खाली कर दिया था।

ये भी पढ़ेंः- ट्रिपल मर्डर से गांव में सनसनी, एक ही घर के तीन लोगों की मौत

आपको बता दें कि साउथ-ईस्ट दिल्ली के डीसीपी ने बताया कि शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन वाली जगह से लोगों को हटा दिया गया है। आने-जाने के लिए रास्ते को खाली कराया जा रहा है। उन्होंने कहा, ‘इस कार्रवाई के लिए बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स बुलाई गई थी। हमने प्रदर्शन कर रहे लोगों से अपील की थी कि कोरोना वायरस के चलते लागू लॉकडाउन की वजह से यहां से हट जाएं। लेकिन उन्होंने इंकार कर दिया। इसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए उन्हें हटा दिया है।’ पुलिस ने कुछ प्रदर्शनकारियों को हिरासत में भी लिया है। प्रदर्शन स्थल पर पुलिस की 10 कंपनी लगाई गई हैं।  पुलिस चार ट्रक में सामान भरकर ले जा रही है। इससे पहले पुलिस ने कार्रवाई करने के लिए आसपास की गलियों को ब्लॉक कर दिया था। बड़ी संख्या में महिला व पुरुष पुलिस की तैनाती की गई थी, जिससे कोई टकराव की स्थिति ना हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *