April 8, 2020

अयोध्या राम मंदिर: 27 साल 3 माह 20 दिन बाद टेंट से मंदिर पहुंचे रामलला

पटना डेस्कः- राम भक्तों के लिए एक बड़ी खबर आई है। जी हां आपको बता दें कि राम भक्तों के लिए अयोध्या से बड़ी खबर निकल कर आ रही है। जहां 27 साल 3 महीने 20 दिन के बाद भगवान राम को टेंट से निकलकर मंदिर में लाया गया है। आपको बता दें कि 27 साल 3 महीने 20 दिन के बाद रामलला को टेंट से निकालकर मंदिर में लाया गया है। बुधवार की सुबह 4:00 बजे विधिवत पूजा के साथ उनको श्रीरामजन्मभूमि परिसर में स्थित गर्भ गृह में लाया गया। इस दौरान पूजा अर्चना करके स्थापित किया गया है। आपको बता दें कि फाइबर के नए मंदिर में रामलला को विराजमान करने के लिए अयोध्या के राजघरानों की तरफ से चांदी का सिंहासन भेट किया गया है। 9.30 किलो का सिंहासन जयपुर से बनवाया गया था जिसे यहां लाया गया है, जिसमें रामलला को बुलाया है। आपको बता दें कि एक तरफ कोरोना वायरस को लेकर पूरी दुनिया त्रस्त है तो वहीं दूसरी तरफ राम भक्तों के लिए बड़ी खबर सामने आई है। राम भक्तों के लिए अयोध्या से बड़ी खबर निकल कर आई, जहां आज सुबह यानि की बुधवार की सुबह 4:00 बजे पूजा अर्चना करके 27 साल 3 महीने 20 दिन के बाद रामलला को टेंट से निकालकर गर्भ गृह में लाया गया। जहां उन्हें एक चांदी के सिंहासन पर बिठाया गया है। आपको बता दें कि कोरोना वायरस को लेकर भव्य कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया गया था। एक सादे  कार्यक्रम में विधिवत पूजा अर्चना करके उनको गर्भ गृह में स्थापित किया गया है।

ये भी पढ़ेंः- कोरोना से हाहाकारः इन फोन नम्बरों पर कॉल करके पा सकते हैं मदद

भगवान रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास बुधवार को अपने भगवान के अस्थायी मंदिर में प्रवेश कर जाने के बाद से बहुत खुश हैं। वह कहते हैं कि जब भगवान को टेंट में देखता था तो कभी-कभी तो टेंट में भगवान को देख रो पड़ता था। आपको बता दें कि 6 दिसंबर 1992 को रामलला को स्थापित कर दिया गया था और तब से आचार्य सत्येंद्र दास कर भगवान रामलला की सेवा रहे हैं। इस दौरान आचार्य सत्येंद्र दास ने कहा कि भगवान रामलला टेंट में थे लेकिन आज उनके लिए एसी का भी इंतजाम है।

ये भी पढ़ेंः- दिल्ली सरकार ने कार्रवाई करने का दिया निर्देश, डॉक्टरों को मकान मालिक, नही कर सकते परेशान ।

​आपको बता दें कि मंत्रोच्चार के साथ रामलला को उनके तीनों भाइयों और सालिकराम के विग्रह के साथ अस्थायी नए आसन पर शिफ्ट किया गया। नए मंदिर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रामलला की आरती की। इस दौरान सीएम योगी ने भव्य मंदिर के निर्माण हेतु ₹11 लाख का चेक भेंट किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *