July 7, 2020

पीएम मोदी के देश सम्बोधन और घोषणा के बाद तेजस्वी यादव ने सीएम नीतीश कुमार पर साधा निशाना

बिहार के राजद नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने पीएम नरेंद्र मोदी के देश को लेकर किए गए संबोधन पर, सीधा उन्होंने बिहार के सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साधा है। जिसमे उन्होंने कहा है कि बीजेपी के साथ गठबंधन चलाने वाले सरकार सीएम नीतीश कुमार अपने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ही बात नहीं मान रहे हैं। क्योंकि उन्हें कोरोना से ज्यादा चुनाव की पड़ी हुई है।

खबरों को विस्तार से देखने के लिए हमारे APP को डाउनलोड करें- https://play.google.com/store/apps/details?id=com.newsone11.app&hl=en

उन्होंने ये भी कहा कि बिहार में मंत्री से लेकर जिलाधिकारी और आरक्षी अधीक्षक तक भी कोरोना से पीड़ित हो रहे हैं। जबकि सरकार इन सब हालातों से निपटने के लिए जमीनी स्तर पर कुछ भी नहीं कर रही है साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि बिहार के लोगों का रैंडम टेस्ट नहीं कराया जा रहा है और बिहार के पूर्ण समर्पित एकमात्र अस्पताल में बारिश का पानी भी जमा हो रहा है इस सभी परिस्थितियों के जिम्मेदार कौन है? और बिहार में हुए ऐसे हालात पर प्रधानमंत्री को संज्ञान लेना चाहिए।

ये भी पढ़े –कोलाबा के ताज होटल सहित दो होटलों को बम से उड़ाने की मिली धमकी, देश के तीन राज्यों में भी अलर्ट

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे (SECR) के शामिल होने और ‘एनाकोंडा’ के गठन में 1500 टन से अधिक ले जाने वाली तीन ट्रेनों को चलाने के बाद भारतीय रेलवे ने इतिहास रचा है। जिसमे बिलासपुर और चक्रधरपुर डिवीजनों के माध्यम से ट्रेनें चलीं।  बता दे कि भारतीय रेलवे के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट ने वीडियो साझा किया और लिखा, “मालगाड़ियों के पारगमन के समय को कम करने में एक बड़ी छलांग लेते हुए, एसईसीआर के बिलासपुर डिवीजन ने 3 भरी हुई गाड़ियों (15000 टन से अधिक) को जोड़कर और चलाकर अभी तक एक और सीमा

ये भी पढ़े –बिहार में अपराधियों की अब खैर नहीं, अब अचानक धावा बोलेगी पुलिस, मिला टास्क

को तोड़ा है।” बिलासपुर और चक्रधरपुर डिवीजनों के माध्यम से एनाकोंडा का गठन। सुपर एनाकोंडा’ थ्री-इन-वन माल ढुलाई सेवा में कथित तौर पर 177 वैगन और 6000 एचपी क्षमता वाले तीन इलेक्ट्रिक इंजन हैं। जबकि इससे पहले 12 जून, 2020 को, भारतीय रेलवे ने पहले डबल स्टैक कंटेनर ट्रेन को सफलतापूर्वक ओवर हेड इक्विपमेंट (OHE) विद्युतीकृत वर्गों में चलाकर एक नया विश्व मानदंड बनाया। बता दे कि यह उपलब्धि पूरे विश्व में अपनी तरह की पहली पहल थी और यह भारतीय रेलवे के लिए एक नवीनतम हरित पहल के रूप में ग्रीन इंडिया के महत्वाकांक्षी मिशन को भी बढ़ावा देगी।

MUST WATCH-

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed