June 5, 2020

दिल्ली के जमात में शामिल कुल 9 लोगों की कोरोना से हुई मौत, जांच शुरू हुआ, तो दिल्ली से लेकर कश्मीर तक जुड़ गया तार ।

दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तब्लीगी जमात के मरकज में अब तक 24 कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद पूरे देश में हड़कंप मच गया है, बताया जा रहा है कि इंडोनेशिया, इंग्लैंड मलेशिया, श्रीलंका, अफगानिस्तान,चीन, बांग्लादेश, सउदी अरब, समेत लगभग 15 देशों के निवासी इस जमात में शामिल हुए थे, इसमें सबसे अधिक संख्या इंडोनेशिया से आए लोगों की थी, सूत्रों के मुताबिक, इंडोनेशिया के लगभग 800 लोग इस मरकज में ठहरे थे, जिसकी अब जांच शुरू हो गई है, हालांकि दिल्ली सरकार के स्वास्थ मंत्री सतेंदर जैन कहा कि हमें सटीक आंकड़ा नहीं पता, लेकिन अनुमान के मुताबित मरकज में 1500 से 1700 लोग इकट्ठा हुए थे, जिसमें अभी तक 1033 लोगों को बाहर निकाला जा चुका है, जिसमें 334 लोगों को हॉस्पिटल भेजा गया है, जबकि 700 लोगों को क्वारनटीन सेंटर भेजा गया है, इसके साथ ही मरकज सेंटर पर डॉक्टरों की टीम डेरा जमाए हुए हैं और सभी लोगों को बाहर निकाल जांच किया जा रहा है, इसके अलावा आस-पास के इलाके को भी सैनिटाइज करने का काम जा रहा है, वहीं तब्लीगी जमात मरकज के आयोजन का कहना है कि लॉक डाउन होने से पहले ही लोग यहां जमा हो गए थे जिस कारण यहां इतने लोग जमा हो गए ।

आगे पढ़ें- 6 लाख रुपये छीनने वाला पुलिस निलंबित, युवक को वापस मिला पैसा ।

दरअसल दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तब्लीगी जमात के मरकज में इक्टठा होने का मामला तब खुला जब जब दिल्ली में 64 साल के एक शख्स की मौत हुई, यह शख्स कोरोना पॉजिटिव मिला था, इसके बाद 33 लोगों को भर्ती कराया गया, जिसमें से कुछ कोरोना पॉजिटिव निकले हैं, वहीं रिपोर्ट सामने आने के बाद पूरा अमला हरकत में आया और पूरे सेंटर को खाली कराया गया,

वहीं जब निजामुद्दीन स्थित मरकज में शामिल जमात में तेंलंगना के 6 लोग, दिल्ली के 1 समेत जमात में शामिल कुल 9 लोगों की कोरोना से मौत हो हुई और जांच शुरू हुआ तो, इसके तार दिल्ली से लेकर कश्मीर तक जुड़ गए, जिसके बाद पूरे देश में हड़कंप मच गया है, हर प्रदेश में अलर्ट जारी किया है, जमात से आए लोगों की तलाश की जाने लगी, जिसके बाद तेलंगाना में करीब 200 लोगों को क्वारनटीन किया गया है, जबकि तमिलनाडु में  800 लोगों की पहचान की गई है, उत्तर प्रदेश में 18 लोगों को जांच के लिए आदेश दिए गए हैं,  वहीं इसके बाद अब इसका तार सूबे की राजधानी पटना से भी जोड़कर देखा जा सकता है।

आगे पढ़ें- जुर्माना वसूल कर, एक सप्ताह में ही ‘’करोड़पति’’ बनी पुलिस ।

दरअसल 23 मार्च को राजधानी पटना के, दीघा थाना क्षेत्र के कुर्जी इलाके के एक मस्जिद में मिले 12 विदेशी संदिग्ध नागरिकों जिसकी पहचान इटली और ईरान के निवासी के तौर पर हुई थी, जिनकी पटना के एम्स अस्पताल में जांच कराया गया था, वहीं सूत्रों की माने तो मस्जिद के पकड़े गई इन विदेशी नागरीकों को भी तब्लीगी जमात से जोड़कर देखा जा रहा है, अब देखने वाली बात होगी क्या इस मामले को लेकर भी बिहार सरकार कुछ विशेष कदम उठाती है, क्या बिहार में भी तब्लीगी जमात से जुड़े हुए लोगों की लताश की जाएगी ये तो वक्त ही बताएगा, ऐसे हम आपको बताते चले कि बिहार में भी कोरोना वायरस के पॉजिटिव मामले में बढ़ोतरी हो रही है अभी संख्या 16 तक पहुंची है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *